Children’s Day 2019: बाल दिवस 2019 पर प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के बारे में कुछ रोचक बातें

Children’s Day 2019: बाल दिवस पर Jawaharlal Nehru के बारे में कुछ रोचक बातें
#Children’sDay2019 #बालदिवस #JawaharlalNehru

देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को उत्तर प्रदेश, इलाहाबाद में हुआ था। एक विद्वान भारतीय, महान स्वतंत्रा सेनानी और अपनी नई आधुनिक दृष्टि से आधुनिक भारत का निर्माण करने वाले पंडित नेहरू को बच्चों और गुलाब के फूल से विशेष प्रेम था। देशभर के बच्चे उन्हें चाचा नेहरू के रूप में संबोधित करते थे। पंडित नेहरू का जन्मदिन देशभर में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। देशभर के सभी स्कूलों में चाचा नेहरू के जन्मदिवस यानी की बालदिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम होते हैं। आप इस दिन को खास बनाने के लिए इन शानदार मैसेज के जरिए बच्चों को बाल दिवस की शुभकामाएं दें सकते हैं।

पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चों और गुलाब के प्रति विशेष लगाव था। वो मानते थे कि आज के बच्चे कल के भविष्य का निर्माण करेंगे।

बच्चों से प्रेम करने वाले पंडित नेहरू का जन्म देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को उत्तर प्रदेश, इलाहाबाद में हुआ था।

नेहरू कश्मीर के एक प्रवासी पंडित परिवार से थे। 1916 में उनकी शादी कमला नेहरू से हुई। 16 साल की उम्र तक जवाहर लाल नेहरू की अधिकांश शिक्षा घर पर ही हुई।

पंडित नेहरू की बेटी इंदिरा गांधी देश की पहली महिला प्रधानमंत्री रहीं।

पंडित नेहरू के पिता का नाम मोतीलाल नेहरू और माता का नाम स्वरूपरानी थुस्सू (1868–1938) था। वे लाहौर के कश्मीरी ब्राह्मण परिवार से थीं।

1905 में नेहरू उच्च शिक्षा के लिए ब्रिटेन गए और यहां के कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की।आजादी के आंदोलन में पंडित नेहरू को 1929 में पहली बार जेल हुई। इसके बाद कई बार उनकी गिरफ्तारी हुई। भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में नेहरू ने गांधी के साथ कंधे से कंधा मिलाया और आजादी के बाद वो भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close