Future Maker News : जानिए क्या है फ्यूचर मेकर कंपनी घोटला

future maker latest news : फ्यूचर मेकर लाइफ केयर कंपनी की अगली सुनवाई 11 जुलाई को छोटे डिस्ट्रीब्यूटर्स को इन्साफ मिलने की उम्मीद। फ्यूचर मेकर कंपनी को बंद हुए 10 महीने हो गए है। 8 हजार करोड़ की ठगी और धोखाधड़ी के आरोपों में घिरी हिसार की फ्यूचर मेकर लाइफ केयर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के सीएमडी राधेश्याम की सुनवाई 11 जुलाई को होगी अब कोर्ट का क्या फैसला आता है ये तो फैसला आने के बाद ही कहा जा सकता है

फ्यूचर मेकर लाइफ केयर कंपनी (future maker life care news) निवेशक से 7500 रु. लेकर उन्हें सूट का कपड़ा, एग्रीकल्चर, हेल्थ व फूड सप्लीमेंट सहित अन्य प्रोड्क्ट्स देती थी। कंपनी के अधिकारी प्रोडक्ट्स से जहर मुक्त खेती और शरीर को फिट रखने सहित अन्य बड़े-बड़े दावे किया करते थे। प्रोडक्ट्स के सैंपल फोरेंसिक लैब में जांच के लिए भिजवाए । ये प्रोडक्ट्स न सिर्फ मिस ब्रांडेड हैं, बल्कि इनके रिकोग्नाइज्ड सर्टिफिकेट तक नहीं है।

आठ हजार करोड़ की ठगी और धोखाधड़ी के आरोपों में घिरी हिसार की फ्यूचर मेकर लाइफ केयर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को तेलंगाना पुलिस ने सील कर दिया। कंपनी ने दो साल में 7500 रुपए को दो गुना करने का झांसा देकर देश भर के करीब 40 लाख लोगों को शिकार बनाया है। 2015 में बनी कंपनी की बैलेंसशीट में 3.19 लाख रुपए थे, पर उसने चेन सिस्टम से करोड़ों रुपए का निवेश कराया।

Rs.500 का सूटलेंथ ‌Rs.75 सौ में बेच कई गुना कमाए

हिसार के दो लोगों राधेश्याम और बंसीलाल ने 2015 में एक लाख रुपए से फ्यूचर मेकर लाइफ केयर प्रा. लि. बनाई। इसमें चेन सिस्टम के जरिए डायरेक्ट सेलिंग के नाम पर देश के करीब 40 लाख लोगों से करीब आठ हजार करोड़ रुपए निवेश कराए। निवेश करने वालों ने यह भी नहीं देखा कि कंपनी सिर्फ 3.19 लाख रुपए की है। कंपनी सिर्फ 500 रुपए का सूटलेंथ 7500 में बेच रही थी। साथ ही उसका दावा था कि पैसे 24 महीने में दो गुना कर दिए जाएंगे। इस झांसे में हिसार ही नहीं बल्कि, हरियाणा समेत महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान, यूपी, दिल्ली, पंजाब, जम्मू कश्मीर, हिमाचल आदि के लोग आ गए। सबसे अधिक महाराष्ट्र और गुजरात के लोग जुड़े।

चेन सिस्टम से कैसे करोड़ों कमाए

एसीपी सुधीर कुमार ने बताया कि कंपनी के टर्नओवर के हिसाब से इनकी देशभर में 1.25 करोड़ आईडी हैं। 7500 रुपए में एक आईडी पर एक लीडर बनाया। उसने दो को जोड़ा। इनके नीचे 2 आईडी और फिर ये 2 आगे 8 आईडी जोड़ी, फिर यह 8 आगे 32। ऐसे ही यह 4 गुना करके नेटवर्क बढ़ाया गया। 24 माह में दो गुना करने का दावा किया। कंपनी निवेशक को प्रमोटर मान उन्हें यह धनराशि वेतन व रॉयल्टी के रूप में देती है।

ऐसे पकड़ी धोखाधड़ी

कंपनी ने तीन माह टैक्स नहीं भरा। जीएसटी न भरने वालों की एक लिस्ट हिसार के सेल टैक्स विभाग के पास आई तो उन्होंने कंपनी को टैक्स भरने के लिए कहा। इसके बाद कंपनी ने पहले 11 करोड़ रुपए फिर 15 करोड़ रुपए 2 दिनों में ही जमा करा दिए। आयकर विभाग ने डिफॉल्ट पकड़ा। कंपनी को 10 करोड़ रुपए पर 10 प्रतिशत टीडीएस देना चाहिए था, जबकि इन्होंने इसे रॉयल्टी न दिखाकर कमीशन बना दिया ताकि 5 प्रतिशत ही टैक्स देना पड़े। टीडीएस विंग ने सर्वे में जब इसे पकड़ा तो वह बाकी का 5 प्रतिशत यानी 80 लाख रुपए जमा करा दिया।

फ्यूचर मेकर के सील होने के बाद देश भर में करीब 4 लाख 60 हजार लोगों ने गूगल पर कंपनी को खोजा। जिसमें लोगों ने फ्यूचर मेकर न्यूज को सर्च किया। यू ट्यूब पर इस कंपनी से जुडे़ करीब 300 से अधिक वीडियो हैं। जिसमें कंपनी के प्लान से लेकर कंपनी के कार्यक्रमों की जानकारी है।

सोशल मीडिया पर फ्यूचर मेकर को करीब 40 लाख लोगों ने सर्च किया है। गूगल सर्च इंजन पर कंपनी के बारे में लोगों ने जानकारी ली है। गूगल पर फ्यूचर टाइप करते हुए फ्यूचर मेकर से जुडी खबरें प्रसारित हो रही हैं। फेसबुक पर लाखों लोगों ने फ्यूचर मेकर से जुड़ी न्यूज को शेयर किया है। व्हाट्स एप पर दिन भर लोग कंपनी से जुड़ी खबरों को शेयर करते रहे। सोशल मीडिया पर कंपनी के प्रमोटर्स ने दावा किया कि कंपनी का शनिवार को ताला खुल जाएगा।

1680 लोगों को बनाया करोड़पति….

यू ट्यूब पर कंपनी की वीडियो है। जिसमें कंपनी की ओर से 1680 लोगों को साढे़ तीन साल में करोड़पति बनाने का दावा किया है। कंपनी अप्रैल 2015 में शुरू की गई थी। कंपनी की वास्तविक आय का ब्यौरा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास भी नहीं है।

दो मेंबर बनाओ हर महीने 1500 खाते में आएंगे

कंपनी में 7500 रुपये जमा कराने पर मेंबरशिप मिलती थी। जिसके बदले उसे जैविक खेती के उत्पाद दिए जाते थे। इसके बाद कंपनी में दो नए सदस्य अपने नीचे जोड़ने पर मेंबर को हर महीने 1500 रुपये दिए जाते थे। यह पैसा 24 महीने तक मिलता था। सदस्यों की संख्या बढ़ने पर आय उसी हिसाब से बढ़ती थी।

कंपनी का भारत के अलावा नेपाल में भी नेटवर्क है। हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, तमिलनाडु, केरल, हिमाचल, पंजाब सहित देश के लगभग अधिकतर राज्यों में नेटवर्क है। कंपनी का मुख्यालय हिसार में बनाया गया था। कंपनी ने अपना कारपोरेट ऑफिस गुरुग्राम में बनाया था।

कुछ लोगों ने सीएमडी राधेश्याम की पुरानी वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल किया। जिसमें राधेश्याम ने कह रहे हैं कि यह बुरा समय है। जल्द ही बीत जाएगा। हम पूरी तरह से ठीक हैं। दरअसल यह वीडियो कई महीने पुरानी है। राजस्थान के भीलवाड़ा में कंपनी पर केस दर्ज होने के बाद राधेश्याम ने यह वीडियो अपलोड की थी। कंपनी से जुडे़ लोग अब इस वीडियो को शेयर कर साख बचाने का प्रयास कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.