100 करोड़ की मालकिन संजू देवी मीणा बेचती है दूध, उसे पता भी नहीं उसके नाम पर कहां है जमीन

100 Million Landowner Woman Sells Milk in Sikar - Jaipur News in Hindi

जयपुर-सीकर. 100 करोड़ की जमीन की मालिक संजू देवी मीणा (Sanju Devi Meena) खेती और पशुपालन कर अपने बच्चों को पाल रही है। संजू देवी को नहीं पता उसके नाम पर कीमती जमीन कहां पर है। वह तो बस इतना जानती है कि पति की मौत के बाद उसे हर माह कोई 5000 रुपए घर का खर्च चलाने के लिए भेजता था। यह पैसा भी पिछले तीन वर्ष से बंद कर दिया गया है। मुंबई के हीरानंदानी ग्रुप की ‘हेजलनट कंस्ट्रक्शन’ कंपनी की करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खेल उजागर होने के बाद नीमकाथाना की पहाडिय़ों के बीच दीपावास गांव की ढाणी में रहने वाली इस महिला के बेनामी संपत्ति खरीदने के इस खेल का खुलासा हुआ। दरअसल मंगलवार को संजूदेवी के नाम से जयपुर-दिल्ली हाइवे पर छह गांवों में खरीदी गई 64 बेनामी संपत्तियों को आयकर विभाग ने प्रोविजनल रूप से अटैच कर दिया है। इन जमीनों का बाजार मूल्य करीब 100 करोड़ रुपए बताया जा रहा है।

पति करता था मुंबई में काम

संजू देवी का पति नारूराम और फुफेर ससुर मुंबई में काम करते थे। बकौल संजू देवी जमीन खरीदने के बात कहकर वर्ष 2006 में दोनों उसे साथ ले गए थे। इस दौरान मुंबई के भी कुछ लोग आए थे। उन्होंने जमीन के कागजों पर उससे अंगुठे लगवाए गए थे। करीब दस वर्ष पहले उसके पति नारूराम की मौत हो गई। संजू देवी को तीन माह पहले आयकर विभाग की टीम ने नीमकाथाना भी बुलाया था। उससे जमीन के खरीद के संबंध में पूछताछ की गई।

पढ़ी-लिखी नहीं है, लगवाया था अंगूठा

संजू के नाम आमेर तहसील के कूकस, खोरामीणा, हरवर, ढन्ड, नांगल तुर्कान और राजपुर खान्या गांवों में स्थित ये जमीनें 2006 में खरीदी गई थी। इस 36 हेक्टेयर जमीन का भुगतान (12.93 करोड़ रुपए) हीरानंदानी ग्रुप की ‘हेजलनट कंस्ट्रक्शन’ ने किया था। कंपनी ने संजू के नाम उपयोग किया। बाद में मुंबई निवासी चंद्रकांत मालवंकर के नाम पावर ऑफ अटॉर्नी करा ली थी। संजू देवी से जब इस बारे में बात की गई तो उसका कहना है कि वह तो निरक्षर है। उसके तो कागजों पर अंगूठे लगावाए गए थे।